IPS Officer कैसे बने | ऐसे पढेंगे तो बनेंगे IPS

Government job का नाम सुनते ही हमारे देश के युवाओं का मन रोमांचित हो जाता है। आज के टाइम में हर एक छात्र को Government Officer बनते देखना चाहता है। और हो भी क्यों ना सरकारी नौकरी का एक अलग ही रुतबा होता है , अच्छी सैलरी , अच्छा घर होता है और सौ बात की एक बात ये है की Government Job मिलने के बाद आपकी जिंदगी बदल जाती है , Life पुरा सेट हो जाता है। आपके समाज में आपके घर में लोगों का आपको देखने का नजरिया ही बदल जाता है।

आपने IPS का नाम तो सुना ही होगा | दोस्तों आप सब में से कई ऐसे होंगे जो IPS के बारे में सबकुछ जानते है , लेकिन कई ऐसे भी हमारे भाई – बहन होंगे जो इससे बिल्कुल ही अनजान होंगे। मैं आज आपको इस आर्टिकल में हर एक प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास करूंगा।

IPS Full form

IPS की Full FormIndian Police Service” होती है

IPS के बारे में सामान्य पूछे जाने वाले सवाल 

IPS कैसे बनते है ? IPS के लिये क्या Eligibility है ? कौनसा Exam देना होता है ? Exam कैसा होता है ? कौन Exam conduct करवाता है ? IPS का क्या मतलब है ? IPS की सैलरी क्या है ? ऐसे बहुत से प्रश्न होंगे ! लेकिन घबराने की जरूरत नहीं हर एक प्रश्न का उत्तर आपको यहाँ मिलने वाला है।

IPS होता क्या है ?  कौनसी Post इसमें मिलती है ?

IPS मतलब Indian Police service जिसमें आपको भारतीय पुलिस विभाग में High Post मिलता है। जैसे की किसी जिले का SP या फिर कमिश्नर , आईजी , डीआईजी या अगर आपका रैंक अच्छा है तो सीधा सेंट्रल में कोई बढ़िया पोस्ट भी मिल जाता है। कभी – कभी कम रैंक होने से आपको SSP , SDM ऐसे भी पोस्ट मिलते है लेकिन आगे Promotion मिलने के बाद आपको ऊपर लिखे पद भी मिल जाते है।

IPS का काम क्या है ?

जैसा की नाम से ही स्पष्ट है की Police डिपार्टमेंट है तो काम भी वैसा ही होगा। इसमें अगर आप SP बनते है तो आपको किसी जिले में भेज दिया जाएगा और फिर उस जिले के जितने भी Police Station है वो सब आपके अंदर आएँगे और साथ ही पुरे जिले की कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने की जिम्मेदारी भी एक SP का ही होता है।

IPS की Salary कितनी होती है ?

IPS की सैलरी कितनी होती है ये काफी लोगो ने हमसे पूछा है , तो चलिए बताते है आपको की IPS का सैलरी कितना होता है।पहले ये जान लो की IPS की salary उतना मायने नहीं रखता जितना की उसका पद |  वैसे देखा जाय तो IPS salary 56,100 रुपये प्रति माह से बढ़कर 2,25,000 रुपये प्रति माह हो जाता है। हालांकि, IPS अधिकारी का वेतन IPS अधिकारी के पद के साथ बदलता है।

IPS कैसे बनें , कौनसी exam दें ?

प्रशासनिक पदों की नियुक्ति के लिए UPSC हर साल एक Exam Conduct करवाती है ।

इस Exam के Total तीन step होते है

  • Premiliary
  • Mains Exam
  • Interview 

इसके बाद Final merit List आती है , जिसमें आपका रैंक और नाम आता है। इसी लिस्ट से पता चलता है की आपको IAS रैंक मिला है या IPS और फिर आपको Training दिया जाता है जिसके बाद Posting होती है। इस exam से जुड़ी कुछ Important बातें नीचे आप पढ़ सकते है।

कौन दें सकता है IPS का exam , IPS Exam Eligibility?

Educational Qualification

इस Exam में बैठने के लिये आपको Graduation करना अनिवार्य है , अगर आप Graduation Final year के स्टूडेंट है फिर भी आप इस Exam को दें सकते है।

IPS Exam Age Criteria

इस exam के लिये न्यूनतम Age 21 है और अधिकतम Category के हिसाब से है की आप किस Category है जो की आप नीचे देख सकते है –

General Category Candidates के लिए अधिकतम Age Limit 30 Years रखी गई है , और Number Of Attempts 4 रखे गए है|

OBC Category Candidates के लिए अधिकतम Age Limit 33 Years रखी गई है , और Number Of Attempts 7 रखे गए है|

Sc/St Category Candidates के लिए अधिकतम Age Limit 35 Years रखी गई है , और Number Of Attempts Unlimited रखे गए है|

IPS बनने के लिये Physical Qualification

IPS के लिये आपको physical qualification भी Qualify करना होगा जो की निम्न है –

Height

  • पुरुष – 165 cm
  • महिला – 150 cm

Chest

  • पुरुष – 84 Cm
  • महिला – 79 Cm

Sc/ST को age में छूट मिलती है।

IPS Exam का Pattern क्या होता है ?

IPS Exam Pattern की बात करे तो हम आपको बताते हाई की, कितने स्टेज होते है और कितने प्रश्न कितने नंबर के पुछे जाते है।

Preliminary Exam

इसमें 200 अंकों के दो अनिवार्य Multiple choice प्रश्नपत्र होते हैं, जिन्हें प्रत्येक 2 घंटे में पूरा किया जाता है। प्रीलिम पेपर को योग्यता की तरह गिना जाता है जबकि पेपर II योग्यता (न्यूनतम 33%) है। दरअसल वो सामान्य अध्ययन: वर्तमान विषयों, इतिहास, भूगोल, राजनीति, आदि और समझ और विश्लेषणात्मक क्षमता की जांच करते हैं।

Main Examination

परीक्षा का उद्देश्य 9 पेपर्स में Memory के बजाय आपकी समझ की गहराई का मूल्यांकन करना है, पहले दो (भारतीय भाषा और अंग्रेजी) qualifying nature का ही होता है।आमतौर पर मुख्य परीक्षा में अधिकांश पेपर सामान्य जागरूकता पर आधारित होते हैं, जो उम्मीदवार की समझ, विश्लेषणात्मक क्षमता, तर्क, निर्णय लेने और समस्या को सुलझाने के कौशल का परीक्षण करते हैं।

उन्हें विशेष रूप से विषयों की विशेष समझ की आवश्यकता नहीं होती है, बल्कि इस देश के सिविल सेवक के रूप में उनकी नौकरी के लिए विषयों की समग्र जागरूकता की आवश्यकता होगी।

Optional Subject की परीक्षा (पेपर्स VI और VII) के लिए एक Special understanding की आवश्यकता होती है, हालाँकि यह केवल Graduate level की तुलना में कुछ अधिक है, यानी ऑनर्स के स्तर पर का रहता है। इंजीनियरिंग, चिकित्सा और कानून के मामले में, एक Graduate level की समझ पर्याप्त है।

IPS Interview के बारे में

Interview, एक बोर्ड द्वारा आयोजित किया जाता है, उम्मीदवार की सामाजिक जागरूकता, करंट अफेयर्स में रुचि, मानसिक सतर्कता, आत्मसात करने की महत्वपूर्ण शक्तियां, तर्क, निर्णय, विविधता और रुचि की गहराई का मूल्यांकन करने के उद्देश्य से सामान्य हित के मामलों पर निर्देशित किया जाता है।communication, और अंत में बौद्धिक और नैतिक मानकों पर विशेष प्रश्न पुछे जाते है।

 10 वीं कक्षा के बाद क्या पढाई करू ?

 

मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती

दोस्तों IPS बनने का सपना अगर आप भी देख रहे है तो तीन बातों को ध्यान में रख लें या कहें तो गांठ बांध लें मेहनत ,धैर्य और सही रास्ता , अगर आपने इन तीनों बातों को सही से फॉलो कर लिया तो सफलता आपके कदमो को चूमेगी 🙂 । अगर अभी भी आपके मन में प्रश्न हो , उलझन हो तो आप हमसे सम्पर्क कर सकते है और करियर से जुड़ी सलाह लें सकते है। 
लेकिन फिर भी कोई प्रश्न रह जाता है तो आप कॉमेंट जरूर कर दें ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.